गणित के सवालों में उलझ रहे रेल यात्री

0
6

भोपाल।रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन इन्क्वायरी सिस्टम पर गणित के सवालों में उलझ रहे हैं। इस सिस्टम पर कैप्चा लागू होने से रेलवे यात्रियों की परेशानी बढ गई है। रेलवे की इस नई व्यवस्था कम पढे लिख लोगों के लिए सिरदर्द साबित हो रही है।कुछ यात्री नई व्यवस्था से खुश हैं तो कुछ इसे कठिन मान रहे हैं। यात्रियों का कहना है कि कैप्चा में जोड़-घटाने के सवालों के लिए मजबूर करना ठीक नहीं है। इसमें अधिक समय लगता है। कई बार भूल से सवाल का उत्तर गलत हो जाए तो प्रक्रिया अटक जाती है। इसलिए पहले की अंक और अक्षर टाइप करने वाली व्यवस्था ही ठीक थी। कुछ यात्रियों का कहना है कि यह नई व्यवस्था ठीक है इससे कुछ न कुछ सीखने का मौका ही मिलता है।
मालूम हो कि रेलवे की वेबसाइट पर एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन के बीच चलने वाली ट्रेनों और सीटों की जानकारी प्राप्त करने के लिए गणित का ज्ञान जरूरी है। जोड़-घटाना आता है, तभी आप रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन इन्क्वायरी सिस्टम पर जानकारी ले सकेंगे। रेलवे ने अपनी वेबसाइट पर सीट की उपलब्धता और ट्रेनों की जानकारी देने वाले ऑप्शन के लिए कैप्चा लागू कर दिया है। ट्रेन बिटवीन स्टेशन और सीट अवेलेबिलिटी ऑप्शन पर क्लिक करते ही कैप्चा खुलता है, जिस पर जोड़ने या घटाने के सवाल होते हैं। इन सवालों के उत्तर नीचे बॉक्स में देने के बाद ही ऑप्शन में प्रवेश मिलता है। यदि सवाल का जवाब गलत हुआ तो प्रवेश नहीं मिलता है। रेलयात्रा से पहले जानकारी लेने के लिए ऐसे तमाम सवालों का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। पहले कैप्चा में केवल अंक या अक्षर होते थे जिन्हें टाइप करने के बाद ऑप्शन खुल जाते थे। अब सवालों को हल कर उसका उत्तर बॉक्स में भरना होता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here