कांग्रेस ने अमेठी में भाजपा के अभियान को बिना जमीनी असर के माहौल बनाने की कोशिश बताया

0
2

नई दिल्ली। कांग्रेस ने राहुल गांधी के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी में बीजेपी के अभियान को ‘बिना जमीनी असर के माहौल बनाने की कोशिश’ बताते हुए खारिज कर दिया है। कांग्रेस का कहना है कि अमेठी में बीजेपी की हारने वाली बाजी में केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ‘केवल एक मोहरा हैं।’ उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेठी में बीजेपी के कार्यक्रम की अगुवाई करने की बात थी लेकिन अब इसके बजाय अमित शाह को भेजा गया है, क्योंकि सभी लोग जानते हैं कि बीजेपी अमेठी में बिना किसी जमीनी असर के केवल ऊपरी माहौल बनाने की कोशिश है।
इस पर मैं केवल इतना कह सकता हूं कि स्मृति इरानी अमेठी में बीजेपी की हारने वाली बाजी में केवल एक मोहरा बन रही हैं। स्मृति जी ने अब तक दो चुनाव लड़े हैं और दोनो में हारी हैं। वह राज्यसभा सांसद हैं और शायद इस वजह से उन्हें लगता है कि यहां चुनाव हारते रहने में कुछ बुराई नहीं है। अमेठी में गांधी परिवार के विकास के कार्यों की अनदेखी करने के बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के आरोप पर बब्बर ने कहा, ‘लोगों की अब अमित शाह के इस तरह के आरोपों को सुनने में दिलचस्पी नहीं है, क्योंकि वे चाहते हैं कि वे अब केवल अपने बेटे की बिजनेस डील के बारे में बात करें।’
शाह ने सोमवार को अमेठी में कहा था कि राहुल को मोदी सरकार के विकास से जुड़े काम नहीं दिखते, क्योंकि उन्होंने इटली का चश्मा पहना है। इस पर प्रतिक्रिया करते हुए बब्बर ने कहा, ‘राहुल गांधी चश्मा नहीं पहनते, लेकिन वह अमेठी के लोगों की इच्छाओं की जानकारी रखते हैं। अमित शाह चश्मा पहनने के बावजूद अमेठी की राजनीतिक वास्तविकता नहीं देख सकते जहां सामान्य मतदाता गांधी परिवार को अपना मानता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here