अरहर और उड़द का वायदा कारोबार जल्द शुरू होगा

0
116

मुंबई। दालों के निर्यात से रोक हटाने के साथ ही वायदा कारोबार को मंजूरी ‎मिलने की उम्मीद बढ़ गई हैं। चना वायदा की तरह एनसीडीईएक्स अरहर और उड़द वायदा भी शुरू करने की मंजूरी चाहता है। एक्सचेंज अरहर और उड़द वायदा सौदों के लिए पूरी तरह तैयार भी है। एक्सचेंज की तरफ से लगातार हो रही मांग और प्रस्तुत किए जा रहे आंकड़ों को देखते हुए सेबी इस मुद्दे पर विचार कर रहा है। सरकार की तरफ से कारोबार को मिल रहे प्रोत्साहन को देखते हुए जानकारों का मानना है कि जनवरी तक वायदा कारोबार शुरु हो सकता है। किसानों को अपने उत्पाद का उचित मूल्य मिले इस उद्देश्य से आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने सभी प्रकार की दालों के निर्यात से प्रतिबंध हटा लिया है। एक दशक से अरहर और उड़द वायदा सौदों पर प्र‎तिबंध लगा हुआ है। जानकारी के मुता‎बिक बाजार में कीमतें बढ़ाने का आरोप लगाकर 23 जनवरी 2007 को तुअर और उड़द के वायदा सौदे बंद कर दिए गए थे। इसके बाद 18 दिसंबर 2009 को मसूर वायदा पर भी रोक लगा दी गई थी। दलहन फसलों में चना वायदा पर भी 4 दिसंबर 2008 को रोक लगा दी गई थी जिसे 28 जुलाई 2016 को दोबारा शुरू करने की इजाजत दे दी गई। इसके बाद एनसीडीईएक्स लगातार मांग करता रहा है कि तुअर और उड़द वायदा शुरू करने की मंजूरी दी जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here