कड़के की ठंड, बढ़ी ठिठुरन

0
8

सर्द हवाओं ने जनजीवन किया प्रभावित
कोरबा। अगले सात दिन ठंड आपको और सताएगी। इस दौरान जिले का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस तक जाएगा। शीत लहर चलने से दिन में भी ठंडकता का अहसास होगा। इस दौरान उत्तर दिशा से आने वाले हवा की गति 6 से 9 किलोमीटर तक रहेगी। अगले मंगलवार से शहरवासियों को ठंड से राहत मिल सकती है। वर्तमान में तापमान का पारा 8 डिग्री तक नीचे जा पहुंचा है। जिससे कड़ाके की ठंड ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया है।
जनवरी माह में जिले का औसत तापमान दिन में अधिकतम 28 और रात में न्यूनतम 9-10 डिग्री सेल्सियस है, लेकिन इस बार जनवरी में पिछले सालों की मुकाबले ज्यादा ठंड पड़ रही है। इसका कारण काश्मीर में गिर रहे बर्फ को बताया जा रहा है। इससे उत्तर से दक्षिण दिशा में ठंडी हवाएं चल रही हैं। यही कारण है कि जिले का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस तक रहा है। मौसम वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार अगले सात दिनों पारा 6 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। सबसे इस दौरान सबसे ठंडी रात शुक्रवार 5 जनवरी को रही। इसमें न्यूनतम पारा 5 डिग्री सेल्सियस तक नीचे चली गई थी। हालांकि सात दिन बाद न्यूनतम तापमान में बढेातरी होनी शुरू हो जाएगी और शहरवासियों को ठंड से राहत मिल जाएगी। जनवरी माह में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री के आसपास बना रहेगा।
वेबसाइट के अनुसार 12 जनवरी से जिले के तापमान में बढ़ोतरी होगी। उस दिन रात का तापमान छह से 13 डिग्री में पहुंच जाएगा। 19 जनवरी को तापमान में गिरावट आएगी पर मामूली रहेगी। एक हफ्ते के बाद माह में रात का औसत तापमान 12 से 14 डिग्री सेल्सिस के बीच ही रहेगा। उत्तर भारत में इन दिनों आम तौर पर थोड़े-थोड़े अंतराल में पश्चिमी विक्षोभ बनते रहते हैं। इस दौरान कई बार तो बर्फबारी होती है। ऐसे सिस्टम गुजर जाने के बाद जब उत्तरी शुष्क हवाएं आती हैं, तो न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज होती है। इस समय उत्तर भारत से सीधी हवाएं यहां नहीं आ रही है। यह भी ठंड कम नहीं होने का एक कारण है। मौसम में हुए बदलाव का बढ़ा कारण यह है कि उत्तरप्रदेश, राजस्थान और बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्से पर ऊपरी हवाओं में चक्रवात बना हुआ है। खाड़ी से हवाएं बस्तर से सटे ओडिसा प्रांत तक रही है। इन हवाओं में काफी नमी होने के कारण बादल बन रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here